यूपी अभ्युदय निशुल्क कोचिंग योजना: अब प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मिलेगी निशुल्क कोचिंग, जल्दी करें आवेदन

यूपी अभ्युदय निशुल्क कोचिंग योजना (मुफ्त शिक्षा, रिज़ल्ट, लॉगिन, परीक्षा की तारीख, लाभ, लाभार्थी, आवेदन फॉर्म, रजिस्ट्रेशन, अप्लाई, पात्रता, सूची, स्टेटस, दस्तावेज, ऑनलाइन पोर्टल, आधारिक वेबसाइट, टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर, आखरी तारीख ) UP Abhyudaya Free Coaching Yojana (Benefits, beneficiaries, application form, registration, eligibility criteria, list, status, official website, portal, documents, helpline number, last date, result, how to apply) 

देशभर के कई ऐसे छात्र हैं जिन्हें प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अन्य राज्यों या जिलों में जाना पड़ता है। जिसका खर्च कई छात्र खुद उठा लेते हैं। वही कुछ ऐसे हैं जो आर्थिक स्थिति ठीक ना होने के कारण वो खर्च उठाने में सक्षम नहीं होते। ऐसे में उत्तर प्रदेश सरकार ने एक योजना शुरू की है जिसका नाम है अभ्युदय योजना। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए निशुल्क कोचिंग सरकार की ओर से प्राप्त कराई जाएगी। लेकिन इसके लिए आपको कई सारी प्रक्रियाओं को पूरा करना होगा। उसके बाद ही आप फ्री कोचिंग ले सकते हैं। वो प्रक्रियाएं कौनसी हैं इसके बारे में जानकारी आपको इस आर्टिकल में प्राप्त हो जाएगी।UP Abhyudaya Free Coaching Yojana

यूपी अभ्युदय निशुल्क कोचिंग योजना [UP Abhyudaya Free Coaching Yojana]

योजना का नाम अभ्युदय योजना
किसके द्वारा हुई शुरू उत्तर प्रदेश सरकार
कब हुई शुरू 2022
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के छात्र
उद्देश्य निशुल्क कोचिंग प्राप्त कराना
आवेदन ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट http://abhyuday.up.gov.in/
हेल्पलाइन नंबर 226024

 

अभ्युदय योजना का उद्देश्य

सरकार ने इस योजना को इसलिए शुरू किया है ताकि जो बच्चे आर्थिक रूप से कमजोर हैं उन्हें अच्छी कोचिंग प्राप्त करने का मौका मिले। उन्हें किसी तरह की कोई दिक्कत ना हो। क्योंकि अगर बच्चे पढ़ने में अच्छे हैं तो वो अच्छे रोजगार भी प्राप्त कर सकते हैं। इसलिए इसे 57 जिलों में शुरू किया जा रहा है। जहां जाकर बच्चे आवेदन कर सकते हैं। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए सरकार ने इस योजना को शुरू किया है।

अभ्युदय योजना के लाभ/विशेषताएं

  • इस योजना को उत्तर प्रदेश सरकार ने स्थापना दिवस पर शुरू किया है। जिसपर वहां के छात्र आवेदन कर सकते हैं।
  • इसके अंतर्गत आईएएस, आईपीएस, पीसीएस, एनडीएस, सीडीएस, नीट आदि परीक्षाओं की तैयारी कराई जाएगी।
  • इसके लिए उन छात्रों को लाभ प्राप्त कराया जाएगा। जो आर्थिक रूप से कमजोर हैं और इसके लिए अन्य राज्य में नहीं जा सकते हैं।
  • अभ्युदय योजना के अंतर्गत सिलेबस सरकार द्वारा खोले जाने वाले कोचिंग सेंटर से प्राप्त कराए जाएंगे।
  • इस योजना में पूरी तरह से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूरी निगरानी बनाए रखेंगे। ताकि उन्हें ये जानकारी रहे कि, सब सही है या नहीं।
  • इस योजना के अंतर्गत छात्रों को ऑनलाइन के साथ-साथ ऑफलाइन स्टडी मटेरियल भी प्राप्त कराए जाएंगे।
  • इसमें बच्चों को सिर्फ इनकी तैयारी ही नहीं कराई जाएगी। बल्कि उन्हें आगे रोजगार के बारे में भी सही जानकारी प्राप्त कराई जाएगी।
  • इसके अंतर्गत बच्चों को ये भी बताया जाएगा कि परीक्षाओं का पैटर्न क्या होगा। इसकी भी पूरी जानकारी दी जाएगी।
  • इस योजना के जरिए डिजिटल इंडिया को भी प्रोत्साहित किया जाएगा। ताकि बच्चें डिजिटल काम करना भी सीख सके।

अभ्युदय योजना की पात्रता [Eligibility]

  • इस योजना के लिए आपको उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना जरूरी है। ताकि आप इसके लिए आवेदन कर सके।
  • इसके लिए उत्तर प्रदेश सरकार 57 जिलों में सेंटर शुरू कराने जा रही है। वहां जाकर आफ अपना आवेदन कर सकते हैं।
  • अगर आप आर्थिक रूप से कमजोर हैं और आपके पास कोचिंग लेने के पैसे नहीं है तो आपको इस योजना से जोड़ा जा सकता है।
  • इसके लिए हर बैच का एक निर्धारित समय रखा गया है। जिसके अनुसार ही बच्चों को कोचिंग दी जाएगी।
  • इसके लिए सरकार ने एक बजट निर्धारित किया है। जिसके अंतर्गत सारा खर्चा निकाला जाएगा।
  • सरकार ने इस बात को साफ कर दिया है कि, इसमें कोचिंग पाने वाले छात्रों को रोजगार के लिए भी तैयार किया जाएगा।

अभ्युदय योजना के लिए दस्तावेज [Documents]

  • इस योजना के लिए आपको अपना मूल निवासी प्रमाण पत्र देना होगा। क्योंकि मान्यता उन्हें ही मिलेगी।
  • आधार कार्ड भी जरूरी है इसके जरिए आपकी जरूरी जानकारी सरकार के पास जमा रहेगी।
  • आय प्रमाण पत्र भी जरूरी है ताकि इसकी जानकारी रहे कि, आपकी सालाना आय कितनी है।
  • राशन कार्ड भी आपको जमा कराना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि इससे आपके पूरे परिवार की जानकारी जमा हो जाएगी।
  • जन्म प्रमाण पत्र भी जरूरी है ताकि आपकी सही आयु की जानकारी सरकार के पास जमा रहे।
  • पासपोर्ट साइज फोटो भी जरूरी है। ऐसा इसलिए ताकि अगर आपका आईडी कार्ड बनेगा तो उसमे आपकी फोटो लग सके।
  • मोबाइल नंबर भी जरूरी है। ताकि योजना से जुड़ी जानकारी आपको आसानी से प्राप्त हो सके और आपके सवालों के जवाब प्राप्त हो सके।

अभ्युदय योजना के लिए आवेदन [UP Abhyudaya Free Coaching Yojana Registration]

  • अगर आप इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आपको इसके लिए सरकार द्वारा जारी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • जैसे ही आप वेबसाइट पर जाएंगे। आपके सामने होम पेज ओपन हो जाएगा। जहां आपको योजना का लिंक प्राप्त होगा।
  • आपको इस लिंक पर क्लिक करना है। जिसके बाद आपको योजना की जरूरी जानकारी दिखाई देगी।
  • आपको इस जानकारी को सही तरीके से पढ़ना है। उसके बाद आगे की प्रक्रिया जारी रखनी है।
  • जैसे ही आप सारी जानकारी पढ़ लेगे। उसके बाद आपको आवेदन पत्र भरना है। इस बात का ध्यान रखें की जो जानकारी मांगी गई है वही इसपर भरे।
  • जैसे ही आप सारी जानकारी भर लेंगे उसके बाद आपको दस्तावेज अटैच करने होगे। जिसके बाद आपके सामने सबमिट का बटन आएगा। जिसपर क्लिक करें और पत्र जमा कर दें।

अभ्युदययोजना की आधिकारिक वेबसाइट [UP Abhyudaya Free Coaching Yojana Official Website]

इस योजना के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा http://abhyuday.up.gov.in/आधिकारिक वेबसाइट जारी कर दी है। जहां पर जाकर आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। इसी के साथ जरूरी जानकारी भी प्राप्त कर सकते हैं।

अभ्युदय योजना हेल्पलाइन नंबर [UP Abhyudaya Free Coaching Yojana Helpline Number]

वेबसाइट के जारी करने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने हेल्पलाइन नंबर 226024 भी जारी कर दिया है। जहां पर कॉल करके आप सेंटर की जानकारी, आवेदन कैसे करें और कोचिंग कैसे होगी। ये सारी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इससे आपको काफी आसानी होने वाली है।

FAQ

Q- अभ्युदय योजनाको किसने किया शुरू?

Ans- इस योजना को उत्तर प्रदेश सरकार ने शुरू किया।

Q- अभ्युदय योजना को कब किया गया शुरू?

Ans- इस योजना को 2022 में किया गया शुरू।

Q- अभ्युदय योजना को कितने जिलों में किया जाएगा शुरू?

Ans- अभ्युदय योजना को 57 जिलों में किया जाएगा शुरू।

Q- अभ्युदय योजना के लिए कैसे करें आवेदन?

Ans- इसके लिए आप ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं।

Q- अभ्युदय योजना के लिए लाभार्थी कौन होगे?

Ans- इसके लाभार्थी आर्थिक रूप से कमजोर छात्र होगे। जिनको इस योजना से जोड़ा जाएगा।

Leave a Comment