यूपी मुफ्त बोरिंग योजना 2022: मात्र 7 दिन में कराए फ्री बोरिंग, ऐसे करें आवेदन

यूपी मुफ्त बोरिंग योजना 2022 (सूची, स्टेटस, दस्तावेज, ऑनलाइन पोर्टल, लाभ, लाभार्थी, आवेदन फॉर्म, रजिस्ट्रेशन, अप्लाई, पात्रता, आधारिक वेबसाइट, टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर, आखरी तारीख, राशि ) Uttar Pradesh Free Boring Scheme (Benefits, beneficiaries, application form, registration, eligibility criteria, list, status, official website, portal, documents, helpline number, last date, how to apply)

उत्तर प्रदेश की गवर्नमेंट के द्वारा किसानों पर खास ध्यान दिया जा रहा है और गवर्नमेंट का यह प्रयास है कि वह किसानों को अधिक से अधिक सुविधाएं उपलब्ध करवाएं, ताकि किसानों के जीवन स्तर में सुधार आए। इसलिए उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट के द्वारा किसानों को सिंचाई में सहायता देने के लिए FREE BORING SCHEME को चालू किया गया है। यह योजना मुख्य तौर पर उत्तर प्रदेश के छोटे किसानों के लिए लाभदायक साबित होगी।

योजना के अंतर्गत सामान्य और अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति के किसानों को पंपसेट लगवाने के लिए अलग-अलग आर्थिक सहायता यूपी गवर्नमेंट देगी। इस प्रकार अगर आप भी सिंचाई हेतु पंप लगवाना चाहते हैं तो आपको यूपी फ्री बोरिंग स्कीम के बारे में पता होना चाहिए। इस आर्टिकल में आपको u.p free boring yojana की जानकारी प्रदान की जा रही है।UP Free Boring Yojana

यूपी मुफ्त बोरिंग योजना 2022 [Uttar Pradesh Free Boring Scheme 2022]

योजना का नाम:  

निःशुल्क बोरिंग योजना

 

 

साल:   

 

2022
राज्य:     

उत्तर प्रदेश

 

 

उद्देश्य:

 

पंपसेट लगवाने हेतु आर्थिक सहायता देना
विभाग:     

लघु सिंचाई विभाग

 

लाभार्थी:     

राज्य के सभी किसान

 

 

आवेदन प्रक्रिया:   

 

ऑनलाइन
 

आधिकारिक वेबसाइट:   

 

MINORIRRIGATIONUP.GOV.IN
 

हेल्पलाइन नंबर:

 

2286601

 

उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट के द्वारा उत्तर प्रदेश राज्य में रहने वाले छोटे वर्ग के किसानों के लिए एक कल्याणकारी योजना को चालू किया गया है। इस योजना का नाम यूपी मुफ्त बोरिंग योजना रखा गया है। इस योजना के अंतर्गत पात्रता रखने वाले व्यक्ति फायदा प्राप्त कर सकते हैं। योजना के अंतर्गत लघु और सीमांत किसानों को अपने मालिकाना हक की जमीन में पंपसेट लगवाने के लिए आर्थिक सहायता गवर्नमेंट के द्वारा प्राप्त होगी।

गवर्नमेंट के द्वारा इस योजना के अंतर्गत अलग-अलग समुदायों को अलग-अलग आर्थिक सहायता दी जाएगी। सामान्य वर्ग के जो किसान 2 हेक्टेयर कृषि करने लायक जमीन रखते हैं, साथ ही अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के जो किसान हैं वह भी इस योजना में अप्लाई कर सकते हैं। हालांकि अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के लिए गवर्नमेंट ने जमीन की कोई भी लिमिट तय नहीं की है।

सामान्य समुदाय से संबंध रखने वाले किसानों को अधिकतम में ₹3000 प्रति बोरिंग प्राप्त होगा, वहीं सामान्य कैटेगरी के सीमांत किसानों को अधिकतम ₹4000 प्रति बोरिंग प्राप्त होगा। वही जो किसान अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति से संबंध रखता है उसे अधिकतम ₹6000 प्रति बोरिंग मिलेंगे।

यूपी मुफ्त बोरिंग योजना का उद्देश्य

इस योजना के अंतर्गत गवर्नमेंट का उद्देश्य है कि वह यूपी राज्य में रहने वाले छोटे और सीमांत किसानों को सिंचाई की सुविधा देने के लिए पंपसेट स्थापित करने के लिए आर्थिक सहायता दे। योजना के अंतर्गत गवर्नमेंट ने उत्तर प्रदेश के सामान समुदाय के किसानों को भी शामिल किया है, साथ ही अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के किसानों को भी शामिल किया है।

ऐसे किसान जो अपने खेतों में पंपसेट लगवाना चाहते हैं परंतु आर्थिक दिक्कतों की वजह से वह पंपसेट नहीं लगा पा रहे हैं, वह यूपी निशुल्क बोरिंग योजना में अप्लाई कर सकते हैं और इस योजना का लाभ प्राप्त करके पंपसेट लगवा सकते हैं और उन्नत खेती कर सकते हैं। इस योजना के उद्देश्य में किसानों को बेहतर सिंचाई की सुविधा देना और उन्हें आत्मनिर्भर बनाना भी शामिल है।

यूपी मुफ्त बोरिंग योजना के लाभ/विशेषताएं

  • यूपी मुफ्त बोरिंग योजना यूपी गवर्नमेंट के द्वारा चालू की गई है।
  • इस योजना को साल 2022 में चालू किया गया है।
  • योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के लघु और सीमांत किसान फायदा प्राप्त करेंगे।
  • सामान्य समुदाय के किसानों को अधिकतम ₹3000 प्रति बोरिंग मिलेगा।
  • सामान्य समुदाय के सीमांत किसानों को अधिकतम ₹4000 प्रति बोरिंग मिलेगा।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के किसानों को अधिकतम ₹6000 प्रति बोरिंग मिलेगा।
  • सामान्य समुदाय के किसानों के लिए 2 हेक्टेयर तक की जमीन की लिमिट तय की गई है।
  • एससी-एसटी समुदाय के लिए जमीन की कोई भी लिमिट तय नहीं की गई है।
  • योजना का लाभ प्राप्त करके किसान भाई खेतों में सिंचाई के लिए पंपसेट लगवा सकेंगे।
  • पंपसेट लग जाने की वजह से किसानों को खेती करने में आसानी होगी।
  • सही समय पर फसलों को सिंचाई मिलने से फसलों की पैदावार अच्छी होगी, जिससे किसानों की भी इनकम में बढ़ोतरी होगी।
  • इनकम में बढ़ोतरी होने से किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार होगा और उनकी जीवनशैली भी अच्छी होगी।

यूपी मुफ्त बोरिंग योजना हेतु पात्रता [Eligibility]

  • योजना में उत्तर प्रदेश के परमानेंट निवासी ही पात्र होंगे।
  • ऐसे किसान जो यूपी के लघु और सीमांत किसान हैं, वही अप्लाई कर सकेंगे।
  • योजना में सामान्य जाति, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के किसान भाई अप्लाई कर सकेंगे।
  • सामान्य केटेगरी के जिन किसानों के पास 2 हेक्टेयर या फिर उससे ज्यादा की भूमि है, वह योजना में अप्लाई कर सकेंगे।
  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के किसानों के लिए जमीन की लिमिट तय नहीं है।
  • योजना का लाभ पाने के लिए सभी दस्तावेज किसानों के पास होने चाहिए।

यूपी मुफ्त बोरिंग योजना हेतु दस्तावेज [Documents]

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • आयु प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता पासबुक
  • जाति प्रमाण पत्र
  • भूमि संबंधित दस्तावेज (नवीनतम खतौनी 61 ख, खसरा)

यूपी मुफ्त बोरिंग योजना में आवेदन की प्रक्रिया [UP Free Boring Yojana Registration]

1: इस योजना का फायदा प्राप्त करने के लिए किसान भाइयों को ऑनलाइन अप्लाई करना पड़ेगा। इसके लिए उन्हें लघु सिंचाई डिपार्टमेंट, उत्तर प्रदेश गवर्नमेंट की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट करना पड़ेगा, जिसका लिंक नीचे दिया गया है।

विजिट वेबसाइट: MINORIRRIGATIONUP.GOV.IN

2: ऊपर दिए गए लिंक पर क्लिक करने के पश्चात आपकी स्क्रीन पर यूपी लघु सिंचाई विभाग की ऑफिशियल वेबसाइट ओपन हो करके आएगी।

3: होम पेज पर पहुंचने के पश्चात आपको होम पेज पर ही “नया क्या है” वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है, जिसके बाद आपकी स्क्रीन पर बहुत सारे ऑप्शन आएंगे।‌ उन ऑप्शन में से आपको डाउनलोड वाले ऑप्शन पर क्लिक करना है।

4: अब आपकी स्क्रीन पर एक पेज ओपन होकर के आएगा जिसमें योजना में अप्लाई करने के लिए एप्लीकेशन फॉर्म का ऑप्शन मिलेगा। यहां से आपको एप्लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड करना है और उसका प्रिंट आउट निकाल लेना है।

5: एप्लीकेशन फॉर्म का प्रिंट आउट निकाल लेने के पश्चात आपको एप्लीकेशन में जो भी मांगी गई जानकारी है, उन्हें बिल्कुल सही सही भरना है।

6: सभी जानकारियों को भरने के पश्चात आपको हार्ड कॉपी के तौर पर जरूरी दस्तावेज भी एप्लीकेशन के साथ अटैच कर देने हैं।

7: अब आपको इस एप्लीकेशन फॉर्म को ले जा कर के अपने घर के पास में मौजूद खंड विकास अधिकारी, तहसील या फिर लघु सिंचाई डिपार्टमेंट के ऑफिस में जमा कर देना है।

8: इतनी प्रक्रिया पूरी करने के पश्चात आपका आवेदन यूपी फ्री बोरिंग योजना में सफलतापूर्वक पूरा हो जाता है।

9: अब आपके एप्लीकेशन फॉर्म की जांच की जाएगी और सही पाए जाने पर आपको योजना में शामिल किया जाएगा, जिसका कंफर्मेशन आपको अपने फोन नंबर पर प्राप्त होगा।

यूपी मुफ्त बोरिंग योजना हेल्पलाइन नंबर [UP Free Boring Yojana Helpline Number]

हमने आर्टिकल में यूपी फ्री बोरिंग स्कीम के बारे में आपको हर संभव जानकारी देने का प्रयास किया है परंतु अगर आपके मन में अभी भी कोई शंका है या फिर आपको कुछ समझ में नहीं आ रहा है तो आप यूपी मुफ्त बोरिंग योजना टोल फ्री नंबर पर फोन कॉल लगा कर के अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं या फिर इस योजना से संबंधित जानकारी को प्राप्त कर सकते हैं।

2286627

2286601

2286670

FAQ:

Q: यूपी फ्री बोरिंग योजना की ईमेल आईडी क्या है?

ANS: MILU-UP@NIC.IN

Q: यूपी बोरिंग योजना का फैक्स नंबर क्या है?

ANS: फैक्स : 2286932

Q: यूपी फ्री बोरिंग योजना का फायदा कौन से समुदाय के लोग उठा सकते हैं?

ANS: सामान्य समुदाय साथ ही अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति

Q: फ्री बोरिंग योजना कौन से राज्य में चालू की गई है?

ANS: उत्तर प्रदेश

Leave a Comment