हरियाणा चिराग योजना: अब प्राइवेट स्कूलों में फ्री में पढ़ाई करेंगे सरकारी स्कूलों के छात्र, जानें क्या है नियम

हरियाणा चिराग योजना (लाभ, लाभार्थी, आवेदन फॉर्म, रजिस्ट्रेशन, अप्लाई, पात्रता, सूची, स्टेटस, दस्तावेज, ऑनलाइन पोर्टल, आधारिक वेबसाइट, टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर, आखरी तारीख ) Haryana Chirag Yojana 2022 (Benefits, beneficiaries, application form, registration, eligibility criteria, list, status, official website, portal, documents, helpline number, last date, how to apply) 

हरियाणा सरकार ने अपने राज्य के विकास के लिए राज्य के गरीब तुबके के विद्यार्थियों को प्राइवेट स्कूलों में दाखिला करवाने के लिए एक नई योजना लेकर आई है।‌ इस योजना के अंतर्गत हरियाणा सरकार ने उन बच्चों की शिक्षा देने का प्रयास किया है जिनके परिवार की वार्षिक आय ₹1,80,000 से कम है। ‌यह योजना हरियाणा के शिक्षा विभाग मुख्यमंत्री द्वारा जारी किया गया है। अगर आप इस योजना के बारे में और विस्तार पूर्वक जाना चाहते हैं तो आर्टिकल को पूरा जरूर पढ़ें।Haryana Chirag Yojana

हरियाणा चिराग योजना [Haryana Chirag Yojana 2022]

योजना का नाम हरियाणा चिराग योजना
योजना लागू करने वाला व्यक्ति हरियाणा शिक्षा विभाग मुख्यमंत्री
लाभार्थी हरियाणा के आर्थिक दृष्टि से कमजोर विद्यार्थी
उद्देश्य गरीब बच्चों को शिक्षा प्रदान करना

 

हरियाणा शिक्षा मंत्री श्री कनवर पाल गुजर ने हरियाणा के आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चों को शिक्षा की सुविधा, राहत व अनुदान देंगे। लेकिन इस योजना के अंतर्गत मुख्य रूप से उन विद्यार्थियों को आर्थिक सहायता प्रदान करेंगे जिनकी सालाना आय 1 लाख 80 हजार रुपए से कम है। योजना के तहत हरियाणा के विद्यार्थियों को कक्षा दूसरी से 12वीं तक प्राइवेट स्कूलों में दाखिला करवा दिया जाएगा। सरकार ने ये स्पष्ट कर दिया है कि इस योजना के अंतर्गत 24,987 विद्यार्थियों का दाखिला करवाया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत जो भी चीजें आगे की जाएगी उसकी अपडेट नोटिफिकेशन के द्वारा सोमवार को भेजना शुरू कर दिया जाएगा।

हरियाणा चिराग योजना का उद्देश्य

हरियाणा चिराग योजना या यूं कहें कि हरियाणा अनुदान योजना को लागू करने के पीछे सरकार का उद्देश्य गरीब व निम्न मिडिल क्लास लोगों के बच्चों को शिक्षा प्रदान करना है। प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने की इच्छा सभी की होती है लेकिन आर्थिक स्थिति अच्छी न होने के कारण विद्यार्थी चाह कर भी प्राइवेट स्कूल में नहीं पढ़ पाते हैं। इसीलिए इस चीज को ध्यान में रखते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री ने इस योजना को निकाला है जिसके तहत वह गरीब विद्यार्थियों को जो पढ़ाई करने में इच्छुक हैं उन्हें प्राइवेट स्कूलों में दाखिला दिलवाएंगे।

हरियाणा चिराग योजना का लाभ पाने हेतु पात्रता [Eligibility]

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया की हरियाणा चिराग योजना का लाभ केवल गरीब लोगों को ही दिया जाएगा पर इसके अंतर्गत भी सरकार ने कुछ नियम बनाए हैं जैसे –

योजना का लाभ केवल उन लोगों को दिया जाएगा जो हरियाणा में रहते हैं और हरियाणा के स्थाई निवासी हैं। ‌

  • योजना के लाभार्थी के परिवार की वार्षिक आय 1 लाख 80 हजार रुपए से कम होनी चाहिए।
  • हरियाणा चिराग योजना का लाभ केवल उन्हीं विद्यार्थियों को दिया जाएगा जो अपने पढ़ाई में अच्छा करते हैं और हर खंड में नियमित रूप से पास होते हैं।

हरियाणा चिराग योजना दस्तावेज

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आपके पास निम्नलिखित दस्तावेजों का होना जरूरी है –

स्थानांतरण सर्टिफिकेट या स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट

इस योजना का लाभ अगर आप प्राप्त करना चाहते हैं तो आप के पास school leaving certificate सर्टिफिकेट या यूं कहें कि किसी का होना जरूरी है।

Identity Card

स्कूल में दाखिले के लिए बच्चों को अपनी आईडी प्रूफ या फैमिली आईडी दिखानी पड़ेगी।

Income Certificate

योजना के अंतर्गत बच्चों का दाखिला स्कूल में तब करवाया जाएगा जब वह अपने परिवार की इनकम सर्टिफिकेट को जमा करेंगे। ‌

हरियाणा चिराग योजना के अंतर्गत स्कूल में दाखिला कैसे करवाया जाएगा ?

 अगर आपके पास सभी उपरोक्त दस्तावेज हैं तो उसके बाद आपको योजना के तहत प्राइवेट स्कूल में दाखिला ले सकते हैं। लेकिन स्कूल में दाखिला लेते समय आपको इस बात का ध्यान रखना है कि आपका एडमिशन केवल उसी प्राइवेट स्कूल में हो सकता है जिसका नाम फॉर्म 6 में दिया गया हो।

अगर कोई विद्यार्थी विद्यालय के तरफ से किसी प्राइवेट विद्यालय में दाखिला ले रहा है तो ऐसे हालात में छात्रों को दाखिला लेने से 2 दिन पहले डाटा मिस पोर्टल पर स्वयं को अपडेट करना आवश्यक है।

हरियाणा चिराग योजना के अंतर्गत कितने विद्यार्थियों का दाखिला हो सकता है ?

ऊपर हमने आपको बता ही दिया है कि हरियाणा शिक्षा मुख्यमंत्री ने योजना के अंतर्गत कक्षा 2 से लेकर कक्षा बारह के विद्यार्थियों का दाखिला करवाने की बात कही है लेकिन यह बात भी सही है कि योजना के अंतर्गत असंख्य विद्यार्थियों का एडमिशन नहीं किया जा सकता है इसलिए सरकार ने एक कोटा बनाया है जिसके अंदर ही विद्यार्थियों का दाखिला प्राइवेट स्कूल में कराया जाएगा। जो कुछ इस तरह से है –

  • दूसरी कक्षा में दाखिला लेने वाले विद्यार्थियों की कुल संख्या 2370 तय की गई है।
  • तीसरी कक्षा के विद्यार्थियों की संख्या 2411 तय की गई है।
  • चौथी कक्षा के विद्यार्थियों की संख्या दाखिला के लिए 2443 से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • पांचवी कक्षा के विद्यार्थियों की संख्या निजी स्कूल में दाखिले के लिए 2384 ही होनी चाहिए।
  • जबकि छटी कक्षा के लिए 2413, सातवीं कक्षा के लिए 2400, आठवी कक्षा के लिए 2383, नौवीं कक्षा के लिए 2211, दसवीं कक्षा के लिए 2174, ग्यारवीं कक्षा के लिए 1858 और बारहवीं कक्षा के लिए 1940 सीट ही तय की गई है। ‌

यानी कि इस योजना के अंतर्गत कुल 24987 सीट निश्चित की गई है। योजना के संदर्भ में सरकारी अधिकारी ने यह बात स्पष्ट की है कि हरियाणा चिराग योजना के अंतर्गत विद्यार्थियों का दाखिला उसी खंड में किया जाएगा इस खंड में वह पढ़ाई कर रहे हैं।

जैसे अगर कोई विद्यार्थी कक्षा तीन में पढ़ा रहा है तो प्राइवेट स्कूल में दाखिला भी कक्षा तीन में ही किया जाएगा।

हरियाणा चिराग योजना में अप्लाई कैसे करें ? [Haryana Chirag Yojana Registration]

हरियाणा चिराग योजना हाल ही में रिलीज हुई है तो इसका लाभ प्राप्त करने के लिए अप्लाई करने की विधि अभी नहीं बताई गई है पर यह जानकारी जैसे ही सरकार के द्वारा प्रदान की जाती है वैसे ही हम आपको अपडेट कर देंगे।

हरियाणा चिराग योजना की ऑफिशियल वेबसाइट [Haryana Chirag Yojana Portal]

जैसा कि हमने आपको बताया कि अभी इस योजना को मात्र घोषित किया गया है तो इसके ऑफिशियल वेबसाइट और संपर्क करने के अन्य माध्यमों को अभी तैयार नहीं किया गया है। इसीलिए अभी आपको योजना के बारे में और जानकारी प्राप्त करने हेतु थोड़ा इंतजार करना होगा।

FAQ

Q: हरियाणा चिराग योजना को किसने लागू किया ?

Ans: हरियाणा के शिक्षा मंत्री ने!

Q: हरियाणा चिराग योजना के अंतर्गत कितने लाभ दिया जाएगा ?

Ans: आर्थिक रूप से कमजोर विद्यार्थियों को!

Q: योजना में भाग लेने के लिए परिवार की वार्षिक आय कितनी होनी चाहिए ?

Ans: ₹180000 से कम!

Leave a Comment