अमृत योजना: हर जिले में बनेगा तालाब पहुंचेगा घर – घर पानी

अमृत योजना 2022 (लाभ, सूची, स्टेटस, दस्तावेज, ऑनलाइन पोर्टल, आधारिक वेबसाइट, लाभार्थी, आवेदन फॉर्म, रजिस्ट्रेशन, अप्लाई, पात्रता, टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर, आखरी तारीख) Amrit Yojana  (benefits, list, status, documents, online portal, official website, beneficiaries, registration form, registration, how to apply, eligibility, toll free number, last date)

ऐसे लोग जो भारत के शहरी इलाके में रहते हैं और बुनियादी सुविधाओं के लिए संघर्ष कर रहे हैं, उनके लिए गवर्नमेंट के द्वारा एक कल्याणकारी योजना को चालू किया गया है। इस योजना का नाम गवर्नमेंट ने अमृत योजना रखा है, जिसे की साल 2015 में ही चालू कर दिया गया है और अभी तक इस योजना के अंतर्गत कई शहरों को लाभ प्राप्त हुआ है।

इस योजना के अंतर्गत गवर्नमेंट लोगों को बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवाएगी। जैसे कि जलापूर्ति, सीवरेज इत्यादि। अगर आप भी शहरी इलाके में रहते हैं तो आपको अमृत योजना के बारे में जानकारी होनी चाहिए, तो आइए इस आर्टिकल में जानते हैं कि “अमृत योजना क्या है” और “अमृत योजना में आवेदन की प्रक्रिया क्या है।” Amrit Yojana

अमृत योजना 2022 [Amrit Yojana]

योजना का नाम: अमृत योजना

 

कार्यक्षेत्र: पूरा भारत

 

कब चालू हुई: 25 जून 2015

 

उद्देश्य बुनियादी सुविधा उपलब्ध करवाना

 

किसने चालू की: केंद्र सरकार

 

लाभार्थी: शहरी इलाके में रहने वाले लोग

 

अधिकारिक वेबसाइट: N/A

 

टोल फ्री नंबर: N/A

 

 

देश में केंद्र सरकार के द्वारा साल 2015 में 25 जून के दिन अमृत योजना को चालू किया गया था। गवर्नमेंट ने इस योजना को इसलिए चालू किया था ताकि भारत के शहरी इलाके में जो परिवार रहते हैं उन्हें बुनियादी सुविधाएं प्राप्त हो सके। जैसे कि पानी की सही आपूर्ति,शहरी परिवहन इत्यादि।

गवर्नमेंट चाहती है कि इस योजना की वजह से गरीब परिवार वालों और वंचित परिवारों की लाइफस्टाइल में सुधार आए और उनकी लाइफस्टाइल को इंप्रूव किया जा सके। सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा अमृत योजना में पानी की आपूर्ति, सीवरेज, कचरे का मैनेजमेंट और बरसात के पानी की निकासी जैसी सुविधाएं शामिल की गई है। इस योजना की स्टार्टिंग भले ही साल 2015 में हुई थी परंतु इस योजना को चालू करने का निर्णय साल 2011 में लिया गया था।

अमृत योजना का उद्देश्य

अमृत योजना के उद्देश्य में गवर्नमेंट के द्वारा शहरी इलाके के विकास को शामिल किया गया है। इस योजना के अंतर्गत गवर्नमेंट का उद्देश्य है कि वह शहरी इलाके में रहने वाले परिवारों के घरों में पानी की आपूर्ति पाइप लाइन के द्वारा करें, साथ ही उन्हें सीवरेज कनेक्शन भी उपलब्ध करवाएं।

इसके साथ इस योजना के द्वारा गवर्नमेंट का उद्देश्य यह भी है कि वह योजना के अंतर्गत हरियाली का विकास करें और पार्कों का सुंदरीकरण भी करें। अमृत योजना में शामिल होने की वजह से शहरों में काफी बदलाव आएगा, साथ ही शहरों में रहने वाले लोगों को कई सुविधाएं भी प्राप्त होगी। खासतौर पर गरीब परिवार वालों को और वंचित परिवारों को।

अमृत योजना के लाभ/विशेषताएं

  • केंद्र सरकार के द्वारा साल 2011 में अमृत योजना को चालू करने के बारे में विचार विमर्श किया गया था और साल 2015 में 25 जून के दिन इसे लागू किया गया था।
  • अमृत योजना का आरंभ मुख्य तौर पर शहरों का कायाकल्प करने के लिए की गई है।
  • इस योजना के अंतर्गत जो भी नगरपालिका है, उन नगरपालिका में आने वाले इलाके में पानी की सप्लाई बेहतर ढंग से की जाएगी।
  • योजना की वजह से शहरों की सड़कों का रखरखाव भी अच्छी प्रकार से होगा, साथ ही शहरों के अंदर मौजूद पार्कों को सुंदर बनाया जाएगा, साथ ही सीवर सिस्टम और सामुदायिक शौचालय पर भी विशेष तौर पर ध्यान दिया जाएगा।
  • योजना के अंतर्गत सेंट्रल गवर्नमेंट के द्वारा कुछ छोटे शहरों का सिलेक्शन किया जाएगा और फिर वहां पर बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।
  • केंद्र सरकार के द्वारा इस योजना के लिए तकरीबन ₹50000 के बजट को तय किया गया है।
  • शहरी इलाके में रहने वाले गरीब परिवारों को योजना के अंतर्गत स्वच्छ पानी उपलब्ध करवाया जाएगा।
  • इस योजना के जरिए शहरों में रहने वाले लोगों को आर्थिक सहायता भी दी जाएगी, ताकि वह अपनी जिंदगी सही प्रकार से गुजार सकें।

अमृत योजना हेतु पात्रता [Eligibilty]

  • ऐसे व्यक्ति ही इस योजना के लिए पात्र होंगे, जो भारत के परमानेंट निवासी हैं।
  • गवर्नमेंट के द्वारा जिन लोगो को गरीबी रेखा के नीचे रखा गया है, उन्हें योजना का फायदा मिलेगा।
  • जिन लोगों के पास आस्था कार्ड मौजूद है वही योजना के लिए पात्र होंगे।
  • व्यक्ति की उम्र 18 साल से लेकर के 59 साल के बीच में होनी चाहिए।
  • जरूरी दस्तावेज जिन व्यक्तियों के पास होंगे वही योजना के लिए पात्र होंगे।
  • योजना का लाभार्थी बनने के लिए योजना में अप्लाई करना आवश्यक है।

अमृत योजना हेतु दस्तावेज [Documents]

  • आधार कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • एनएफएसए कार्ड
  • वोटर आईडी कार्ड
  • आवेदक का फोटो
  • मृत्‍यु प्रमाण पत्र
  • पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट
  • प्रथम सूचना रिपोर्ट
  • पुलिस अंवेषण रिपोर्ट
  • डॉक्टर द्वारा अटेस्टेड
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • ईपीआईसी कार्ड

अमृत योजना में आवेदन की प्रक्रिया [Amrit Yojana Registration Process]

कोई व्यक्ति अमृत योजना का फायदा प्राप्त करने के लिए कैसे अमृत योजना में आवेदन कर सकता है, इसके बारे में हमें अभी कोई भी जानकारी प्राप्त नहीं हुई है। जैसे ही हमें अमृत योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में कोई भी जानकारी प्राप्त होती है, वैसे ही उस जानकारी को हमारे द्वारा इस आर्टिकल में अपडेट किया जाएगा, ताकि इस योजना का फायदा प्राप्त करने वाले व्यक्ति आसानी से आर्टिकल में दी हुई विधि को फॉलो करके योजना में अप्लाई कर सके और पात्रता के तहत योजना के लाभार्थी बन सके।

अमृत योजना हेल्पलाइन नंबर [Amrit Yojana Helpline Number]

हमने इस आर्टिकल में आपको केंद्र सरकार के द्वारा चालू की गई अमृत योजना के बारे में हर संभव जानकारी देने का प्रयास किया। अगर आपको अभी भी इस योजना के बारे में कुछ समझ में नहीं आया है या फिर आपको योजना से संबंधित कोई सवाल पूछना है तो नीचे आपको हम अमृत योजना टोल फ्री नंबर भी दे रहे हैं, जिस पर फोन करके आप अपनी समस्या का समाधान प्राप्त कर सकते हैं या फिर योजना के बारे में पूछताछ कर सकते हैं।

1800 102 7480

FAQ:

Q: अमृत योजना को किसने चालू किया?

ANS: केंद्र सरकार

Q: अमृत योजना का बजट कितना है?

ANS: 50 हजार करोड़

Q: अमृत योजना में आवेदन की प्रक्रिया क्या है?

ANS: जल्द ही अपडेट की जाएगी।

Q: अमृत योजना में मुख्य तौर पर किस पर फोकस है?

ANS: शहरी इलाके

Q: अमृत योजना के लाभार्थी कौन होंगे?

ANS: शहरी इलाके में रहने वाले गरीब और वंचित परिवार।

Leave a Comment