आयुष्मान भारत योजना | What Is Ayushman Bharat Yojana Scheme in Hindi | Modicare in Hindi | Namocare in Hindi

आयुष्मान भारत योजना क्या हैं? , What Is Ayushman Bharat Yojana Scheme in Hindi Modicare in Hindi, Namocare in Hindi प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के बारे में जानकारी [रजिस्ट्रेशन फॉर्म, लिस्ट]

आयुष्मान भारत योजना भारत सरकार द्वारा शुरू की गई ऐसी स्वास्थ्य बीमा योजना हैं, जिसमें देश के गरीब वर्ग को मुफ्त में ईलाज की सुविधा प्रदान होगी. इस योजना की केन्द्रीय सरकार ने इस साल की शुरुआत में घोषणा की थी, किन्तु इसे अधिकारिक तौर पर सितंबर से शुरू किया गया है. इस का नाम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना है. इसकी विशेषता एवं आवेदन की प्रक्रिया जानने का लिए इस लेख को पूरा पढ़ें.

आयुष्मान भारत योजना

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना क्या है? 

 प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत [PM Jan Arogya Ayushman Bharat], एक स्वास्थ बीमा योजना हैं जिसमे परिवार के किसी भी सदस्य के बीमार होने पर उनका इलाज योजना के तहत आने वाले अस्पतालों में करवाये जाने पर पूरा खर्चा बीमा कंपनियों द्वारा उठाया जायेगा।  इस तरह यह बीमा योजना गरीब लोगो के लिये पूरी तरह मुफ्त बीमा योजना होगी।

1. योजना का पूरा नाम प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत
2. योजना का लांच फरवरी सन 2018
3. योजना की शुरुआत देश के वित्त मंत्री जी द्वारा
4. योजना के तहत पहल राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा और स्वास्थ्य एवं कल्याण सेंटर्स
5. सम्बंधित विभाग स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय
6. कुल लाभार्थी 10 करोड़ कमजोर गरीब वर्ग
7. बीमा कवरेज 5 लाख प्रति वर्ष
8. टोल फ्री / हेल्पलाइन नंबर (Helpline number) 1800–180–1104 या 14555
9 वेबसाइट https://abnhpm.gov.in

बीमा की विशेषताएं (Insurance Key Features)

  • कवरेज राशि :- इस योजना के तहत लाभार्थियों को हर साल 5 लाख तक का स्वास्थ्य बीमा कवरेज प्रदान किया जायेगा. अतः उन्हें अपने ईलाज के लिए किसी प्रकार का भुगतान नहीं करना होगा.  
  • प्रीमियम :- इस योजना में बीमा कंपनी द्वारा लिए जा रहे प्रीमियम का भुगतान लाभार्थियों को नहीं करना होगा. इसका भुगतान केन्द्रीय एवं राज्य सरकारों के वित्त मंत्रालय द्वारा परिभाषित राशन के आधार पर किया जायेगा.
  • रिन्यूअल :- इस स्वास्थ्य बीमा योजना में दिया जाने वाला बीमा कवरेज का प्रतिवर्ष रिन्यूअल होगा. यानि हर साल वे 5 लाख तक का बीमा कवरेज प्राप्त कर ईलाज करवा सकते हैं.  

योग्यता (Eligibility Criteria)

  • जनगणना 2011 में आने वाले :- इस योजना में पात्रता मानदंड पूरी तरह से देश भर में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों को कवर करने वाली सामाजिक – आर्थिक जातीय जनगणना 2011 के डेटा पर आधारित है, जिसमें इसके लाभार्थी परिवारों की संख्या लगभग 10.74 करोड़ है.
  • आयु सीमा :- आयुष्मान भारत योजना में किसी भी मरीज के लिए आयु सीमा निर्धारित नहीं की गई है. इसमें कोई भी उम्र का व्यक्ति शामिल हो सकता है फिर चाहे वह छोटा बच्चा, महिला या कोई बुजुर्ग व्यक्ति हो, सभी इसके लिए पात्र हैं.
  • परिवार में सदस्यों की संख्या :- इस योजना में लाभ प्राप्त करने वाले लाभार्थी परिवारों में कितने भी सदस्य हो सकते हैं, और वे इसके माध्यम से ईलाज करवा सकते हैं. इसमें परिवार के सदस्यों की संख्या का भी कोई निर्धारण नहीं किया गया है.
  • गरीबी रेखा से नीचे आने वालों के लिए :- यह योजना केवल उन लोगों के लिए है, जोकि गरीबी रेखा से नीचे आते हैं. इसके अलावा वे किसी अन्य बीमा पालिसी का लाभ नहीं उठा रहे हो, उन्हें इसके लिए पात्र माना जायेगा.  
  • आधार कार्ड धारक :- इस योजना में पहचान पत्र देने के लिए लाभार्थी को आधार कार्ड धारक होना जरुरी नहीं है. इसमें किसी भी पहचान पत्र के माध्यम से लाभ प्राप्त करने की अनुमति दे दी गई है.

आवश्यक दस्तावेज (Required Documents)

इस योजना में रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया के लिए सरकार द्वारा आवश्यक दस्तावेजों के बारे में को अधिकारिक जानकारी या स्टेटमेंट नहीं दिया गया है. लेकिन इसमें कुछ दस्तावेजों की सूची हम आपके सामने लेकर आ रहे हैं जिसकी जरुरत इस योजना का लाभ उठाने में पड़ सकती है 

  • गोल्डन कार्ड : आयुष्मान भारत योजना का लाभ लेने के लिये सरकार द्वारा भेजा गया पत्र अथवा कार्ड सबसे अधिक महत्वपूर्ण हैं.
  • विशेष प्रमाण पत्र :- यदि किसी आवेदक के पास विशेष प्रमाण पत्र है, तो वह प्रमाण पत्र उनके विशेष श्रेणी में आने के लिए एक प्रमाण होगा. जिसे वे वहाँ जमा कर सकते हैं.
  • आय प्रमाण पत्र :- इस योजना में आवेदक को अपनी आय का प्रमाण देना हो सकता है. जोकि यह दर्शायेगा कि वह गरीबी रेखा के नीचे आते हैं.
  • जाति प्रमाण पत्र :– इसके अलावा आवेदक अपना जाति प्रमाण पत्र भी जमा कर सकता है जिससे यह साबित होगा कि वह किस जाति से संबंध रखता है. क्योंकि इस योजना में विशेषकर निम्न जाति के लोगों को शामिल किया जाना है.
  • पहचान की जानकारी :– इस योजना में आधार कार्ड पहचान पत्र के रूप में उपयोग में लाया जा सकता हैं. हलांकि यह जरुरी नहीं हैं कि आप पहचान के रूप में इसी दस्तावेज का इस्तेमाल करें. इसके अलावा भी आप पहचान से सम्बंधित दस्तावेज उपयोग में ला सकते हैं.
  • संपर्क जानकारी :- यदि कोई मरीज अस्पताल में भर्ती है और उसके साथ का कोई व्यक्ति वहां मौजूद नहीं है. तो उससे संपर्क करने के लिए सारी जानकारी भी वहां मांगी जा सकती है.
  • परिवार की संख्या एवं आयु प्रमाण पत्र :- जैसा की बताया गया है कि इसमें कोई आयु सीमा यह परिवार के सदस्यों की संख्या निश्चित नहीं की गई हैं इसलिए आपको यह दस्तावेज जमा करना आवश्यक नहीं है.  

आवेदन फॉर्म एवं प्रक्रिया (Application Form and Process)

इस योजना के लिये आवेदन की प्रक्रिया लाभार्थी द्वारा नहीं की जायेगी। इस योजना के लिये योग्य परिवार जिनका नाम एसईसीसी 2011 की लिस्ट में शामिल हैं, उन्हे सरकार की तरफ से लेटर अथवा कार्ड भेजे जायेंगे, और जिनके पास यह कार्ड होंगे, वे इस योजना में शामिल हो चुके होंगे। लाभार्थी को यह कार्ड अथवा लेटर लेकर अस्पताल जाना होगा और वहाँ जन आरोग्य अथवा आयुष्मान मित्रा से संपर्क करना होगा, उसके बाद की पूरी प्रक्रिया आरोग्य मित्र द्वारा देखी एवं लाभार्थी को समझाई जायेगी।

इस तरह अब तक की जानकारी के अनुसार इस योजना का कोई पंजीकरण फॉर्म अथवा प्रक्रिया नहीं हैं. लेकिन लाभार्थी को यह गोल्डन कार्ड अथवा लेटर कैसे भेजे जायेंगे, यह राज्य सरकारें तय करेंगी। इसके अलावा जिन लाभार्थी का नाम एसईसीसी 2011 की लिस्ट में नहीं हैं वे भी अपना नाम वहाँ जुड़वा सकते हैं जिसके लिये उन्हे स्थानीय अथॉरिटी से संपर्क करना होगा लेकिन हाल ही में जुड़े नाम को इस योजना का लाभ मिलेगा यह नहीं यह अब तक स्पष्ट नहीं हैं।

इस योजना की आवेदन प्रक्रिया में राज्य सरकार द्वारा बदलाव किये जा सकते हैं अतः आप इस पेज को बूकमार्क कर सकते हैं ताकि आपको सारी जानकारी समय पर मिल सके.

कार्ड प्राप्त करने की प्रक्रिया (How to Get Ayushman Bharat Golden Card ?)

इस योजना में शामिल होने वाले लोगों को एक कार्ड प्रदान किया जायेगा. वे इस कार्ड को अस्पतालों में दिखाकर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं. इस कार्ड को अलग – अलग राज्यों में अलग नाम दिया जा सकता हैं और इसे वहां अलग तरीके से भी जारी किया जा सकता है. हालही में उत्तरप्रदेश सरकार ने लाभार्थियों के लिए गोल्डन कार्ड जारी किया है.  

लाभार्थियों की सूची में नाम कैसे देखें ? (How to find name in beneficiary list ?)

आयुष्मान भारत योजना में आप इस योजना में शामिल है या नहीं, यह चेक करने के लिए निम्न प्रक्रिया दी गई है –

ऑनलाइन प्रक्रिया :-

  • इस योजना में आपका नाम देखने के लिए आपको सबसे पहले इस लिंक पीएम-जय वेबसाइट पर क्लिक करना होगा.
  • इसके बाद यहाँ आप अपना मोबाइल नंबर दें. और एक कैप्चा कोड दिखाई देगा उसे इंटर करें और जनरेट ओटीपी पर क्लिक करें. फिर आपके फोन में एक ओटीपी नंबर आयेगा. उसे इसमें इंटर कर सबमिट कर दें.
  • यह होने के बाद आपकी स्क्रीन पर एक नया पेज खुलेगा. यहाँ आपसे पूछी जाने वाली जानकारी देकर आप सूची में अपना नाम देख सकते हैं.
  • यहाँ आपसे आपका राज्य एवं केटेगरी को सेलेक्ट करने के लिए विकल्प आयेगा. केटेगरी में आपको अपना नाम, मोबाइल नंबर, राशन कार्ड नंबर या आरएसबीवाई यूआरएन नंबर पूछा जायेगा. जिसे सेलेक्ट करके आप सारी जानकारी देकर सर्च बटन पर क्लिक करें.
  • यदि यह सफलतापूर्वक सर्च हो जाता है, और यदि आपका नाम सूची में हैं. तो यह आपके स्क्रीन के दाई ओर दिखाई देगा.
  • यदि आप योजना के तहत कवर होने वाले परिवार के सदस्यों के लाभार्थी की जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं या देखना चाहते हैं तो ‘परिवार के सदस्य’ टैब पर क्लिक करें.

इस तरह से आप इस योजना में योग्य हैं या नहीं यह ऑनलाइन माध्यम से घर बैठे देख सकते हैं.

ऑफलाइन प्रक्रिया :-

इस योजना में यदि आप ऑफलाइन माध्यम से यह जानना चाहते हैं कि आपका नाम इस योजना की सूची में शामिल है या नहीं, तो आप इसके लिए इस 14555 हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके भी कर सकते हैं. इस पर कॉल करके आपसे जो भी जानकारी मांगी जाएगी आपको उसे देना होगा.    

अस्पतालों की सूची (Hospital List)

इस योजना में शामिल होने वाले सभी अस्पतालों की सूची को जल्द ही सरकार द्वारा इसके अधिकारिक पोर्टल पर जारी किया जायेगा जहाँ से आप इसकी सूची देख सकते हैं. इसके लिए अधिकारिक पोर्टल की लिंक https://www.abnhpm.gov.in/index.html पर क्लिक करके आप सूची देख सकते हैं. यह जल्द ही इसमें अपलोड की जाएगी.

आयुष्मान मित्र कैसे बने ? उनके काम एवं वेतन(Ayushman Mitra Role and Salary)

इस योजना में शामिल होने वाले जितने भी सरकारी एवं निजी अस्पताल हैं उनमें कुछ लोगों को नियुक्त किया जायेगा, उन्हें ही आरोग्य मित्र कहा जाता हैं. आरोग्य मित्र के लिए अस्पताल में से ही किसी को नियुक्त किया जा सकता है या सरकार द्वारा कुछ लोगों को इसके लिए प्रशिक्षण भी दिया जायेगा. ये वे लोग होंगे जिन्हें आरोग्य भारत योजना के बारे में पूरी जानकारी होगी. उन्हें यह भी जानकारी होगी कि रोगियों को लाभ पहुँचाने के लिए सॉफ्टवेयर पर कैसे काम करना है. इसके अलावा उनका यह काम होगा कि वे क्यूआर कोड के अनुसार लाभार्थी की पहचान का सत्यापन करेंगे कि वे इस योजना में शामिल होने योग्य है या नहीं. उनकी यह जिम्मेदारी होगी कि वे रोगी को इस योजना से जुड़ी सारी जानकारी प्रदान करें.  

इस योजना के तहत उन्हें इसके लिए 15,000 रूपये का मासिक वेतन प्राप्त होगा. इतना ही नहीं इसके अलावा इन्हें इस योजना के प्रत्येक लाभार्थी पर 50 रूपये प्रोत्साहन के रूप में भी मिलेंगे. इस तरह आरोग्य मित्र की इस योजना को लागू करने में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका होगी. 

योजना के लाभ एवं विशेषताएं (Key Features)

  • स्वास्थ्य बीमा योजना : यह एक स्वास्थ बीमा योजना हैं जिसके तहत वे लोग जोकि आर्थिक रूप से कमजोर हैं उन्हे हेल्थ कवरेज मिलेगा. ताकि वे अच्छे से सभी सुविधाओं के साथ अपना ईलाज करा सकें.
  • सेकेंडरी एवं टर्टरी देखभाल :- इस राष्ट्रीय स्वास्थ्य संरक्षण योजना के माध्यम से अस्पताल में भर्ती होने वाले लोगों को सेकेंडरी एवं टर्टरी देखभाल उपलब्ध कराई जाएगी. इसका मतलब यह है कि यह योजना किसी भी बड़ी बीमारी के ईलाज के लिए हैं, इसमें किसी सर्दी – खांसी या बुखार जैसी छोटी बीमारियों का ईलाज शामिल नहीं होगा.
  • स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र :- इस योजना के शुरू होने के साथ पूरे देश में स्वास्थ्य केन्द्रों या अस्पतालों में 1.5 लाख स्वास्थ्य एवं कल्याण केंद्र शुरू किये जायेंगे. 18 हजार से अधिक अस्पताल इसमें पहले से ही शामिल हो चुके हैं.
  • कुल कवरेज :- इस योजना में देश की कुल आबादी का 40 % यानि लगभग 10 करोड़ वंचित रह जाने वाले ग्रामीण एवं शहरी परिवारों को शामिल किये जाने का प्रावधान रखा गया है.
  • स्वास्थ्य से सम्बंधित सुविधा :- इस योजना के माध्यम से मरीज का समय पर ईलाज हो पायेगा एवं उन्हें संतुष्टि भी मिलेगी. इसके साथ ही इसमें स्वास्थ्य देखभाल सेवाओं की ओवरआल एफिशिएंसी और प्रोडक्टिविटी में भी सुधार किया जायेगा, जिससे उनका जीवन सुरक्षित रहेगा.
  • राज्य स्वास्थ्य एजेंसी :- इस योजना को लागू करने के लिए सभी राज्यों में राज्य स्वास्थ्य एजेंसी इसकी जिम्मेदारी के लिए होंगी.
  • कैशलेस उपचार :- इस योजना पूरे देश में पोर्टेबल होगी. इसका अर्थ यह है कि लाभार्थी देश में किसी भी सरकारी या सूचीबद्ध निजी अस्पतालों में कैशलेस उपचार का लाभ उठा सकता है. पेपरलेस और कैशलेस उपचार को सक्षम करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा एनआईटीआई आयोग के साथ साझेदारी में एक मजबूत, मोड्युलर, स्केलेबल और इंटरओपेरेबल आईटी मंच स्थापित किये जायेंगे.
  • कुल खर्च का भुगतान :- इस योजना में लाभार्थी के ईलाज के लिए लगने वाले खर्च को सरकार द्वारा ही उठाया जायेगा. इसके लिए पैकेज रेट को केंद्र सरकार द्वारा फाइनल किया गया है. इसकी जानकारी ऑफिसियल पोर्टल पर उपलब्ध है.

Other Articles

15 comments

  1. may i know when & how to empanel private hospitals with modicare scheme and want to know about guideline for pvt hospitals empanelment.

  2. मोदी सरकार अच्छे कदम डाल रही है, और इस योजना से गरीब लोगोको फायदा होगा, जीस से पुरा भारत देश सुदृढ और निरोगी होगा, मुझे आशा है हमारे प्रधानमंत्रीजी future मे भी और अच्छे कदम उठायेगे…

    धन्यवाद भारत सरकार !!!

  3. महोदय
    क्या इस योजना का लाभ लेने के लिए प्राइवेट अस्पताल मानी है इसके पंजीकरण के लिए क्या प्रक्रिया है

  4. Mera is yojna mein naam aaya hai lekin uske naam mein galti hai kya wo sahi ki ja sakte hai aadhaar card k hisab se….thanks

  5. Jo admi garib hai aur uske pass BPL card nahi hai uska kay vo mre jara unke bare may bhi socho aise kitne log hai jo garib hote hue bhi unke pass BPL nahi

  6. Mera ek hath toota hai ,Kya is yujna se ilaj karba sakte hai

  7. Mere Bhai ke ek pair me fracture hua Tha Maine suretec namk ramdaspeth Nagpur me jiwandai yojna ke jariye operation ilag ke liye pryas Kiya lekin hospital authority ne kha yah yogna me ilag nahi ho skenga phir muze kisi trh private me hi ilag krwana pda wobhi 25% byaj par krjlekr .

  8. I am below poverty line catagory what i benefit this service

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!