योगी आदित्यनाथ का जीवन परिचय | Yogi Adityanath biography in hindi

 

योगी आदित्यनाथ का जीवन परिचय | Yogi Adityanath biography in hindi and English

उत्तर प्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का राज्य की सत्ता में उच्च पद पर पहुँचने की घटना जहाँ काफी चौंकाने वाली है वहीँ रोचक भी है. अब तक लोग उन्हें एक मठ के महंत, सांसद और विवादित बयान देने वाले शख्स के तौर पर जानते थे. परन्तु 45 वर्ष की उम्र में अपने राजनीतिक कौशल के बल पर वह राज्य की सत्ता के उच्च शिखर तक पहुंच जाएंगे, इसका अंदाज़ा लगाने में बड़े से बड़े राजनीतिक विश्लेषक भी लगभग असफल रहे. बहरहाल, 19 मार्च 2017 को योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेकर राज्य और देश के राजनीतिक इतिहास में एक नया अध्याय जरूर लिख दिया है.

योगी आदित्यनाथ का प्रारंभिक जीवन (Yogi Adityanath early life)

संभवतः बहुत कम लोगों को जानकारी होगी कि योगी आदित्यनाथ का वास्तविक नाम अजय सिंह नेगी है. 5 जून 1972 को अविभाजित उत्तर प्रदेश (अब उत्तराखंड) के पौड़ी गढ़वाल जिले के पंचुर गांव में अजय सिंह नेगी का जन्म एक राजपूत परिवार में हुआ था. पांच वर्ष की उम्र में इन्हें टिहरी स्थित गजा के स्कूल में दाखिल कराया गया. वर्ष 1987 में इन्होने इसी स्कूल से दसवीं की परीक्षा पास की. योगी बचपन से ही कुशाग्र बुद्धि के थे. वर्ष 1989 में ऋषिकेश के भारत मंदिर इंटर कॉलेज से इंटर की परीक्षा पास करने के बाद इन्होने हेमबती नंदन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय में स्नातक में दाखिला लिया और वर्ष 1992 में यहां से गणित में स्नातक की परीक्षा पास की. इसी दौरान योगी छात्र राजनीति से जुड़े और इन्होने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् (ABVP) की सदस्यता ग्रहण कर ली. वे विश्वविद्यालय के छात्र संघ के चुनाव में भी खड़े हुए परन्तु चुनाव जीतने में असफल रहे. धार्मिक प्रवृति के होने के कारण योगी एमएससी की पढाई के दौरान एक शोध के सिलसिले में गोरखपुर स्थित गुरु गोरखनाथ मंदिर पहुंचे. यहां वे गोरक्षनाथ मंदिर के तत्कालीन महंत अवैद्यनाथ के संपर्क में आए. महंत अवैद्यनाथ से प्रभावित होकर इन्होने सन्यासी बनने का निर्णय किया, और वर्ष 1994 में इन्होने महंत अवैद्यनाथ से दीक्षा लेकर सन्यास धारण कर लिया. सन्यासी बनने के बाद इन्होने अपना नाम अजय सिंह नेगी से बदलकर योगी आदित्यनाथ रख लिया.

योगी आदित्यनाथ का राजनीतिक जीवन (Yogi Adityanath political career)

राजनीति के प्रति छात्र जीवन से रुचि रखने वाले योगी आदित्यनाथ का राजनीति में पूर्णरूपेण पदार्पण तब हुआ, जब उन्होंने वर्ष 1998 में केवल 26 साल की उम्र में गोरखपुर से भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर लोक सभा का चुनाव लड़ा और वे इस चुनाव विजयी रहे. वस्तुतः राजनीति उन्हें अपने गुरु महंत अवैद्यनाथ से विरासत में मिली थी. इस चुनाव से पूर्व महंत अवैद्यनाथ लोक सभा में गोरखपुर का नेतृत्व कर रहे थे. वे यहां से पूर्व में दो बार यानि वर्ष 1991 और वर्ष 1996 का लोक सभा का चुनाव जीत चुके थे. वर्ष 1998 में गठित 12वीं लोक सभा में योगी आदित्यनाथ सबसे कम उम्र के सांसद थे, परन्तु जल्दी ही यानि अगले ही वर्ष देश में मध्यावधि चुनाव की घोषणा हो गई और योगी आदित्यनाथ एक बार फिर से वर्ष 1999 के आम चुनाव में गोरखपुर से भाजपा के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे और सांसद चुने गए.

कट्टर हिन्दू छवि रखने वाले योगी आदित्यनाथ ने वर्ष 2002 में एक संगठन ‘हिन्दू युवा वाहिनी’ का गठन किया. हालाँकि उनका यह संगठन हमेशा विवादों में रहा, परन्तु विवादों से अलग योगी आदित्यनाथ का जलवा गोरखपुर और पूर्वी उत्तर प्रदेश के इलाके में कायम रहा. आगे वे लगातार वर्ष 2004, 2009 और 2014 के लोक सभा चुनाव में विजय की पताका फहराते रहे. वर्ष 2009 और वर्ष 2014 के लोक सभा चुनाव में योगी आदित्यनाथ दो लाख से अधिक रिकॉर्ड मतों के अंतर से चुनाव में विजयी रहे थे. वर्ष 2014 के लोक सभा चुनाव के बाद उत्तर प्रदेश में विधान सभा के लिए खाली हुए 12 सीटों के लिए उपचुनाव हुए थे. इस चुनाव में योगी की लोकप्रियता को भुनाने के लिए भाजपा ने उन्हें प्रचार की कमान सौंपी, परन्तु वे पार्टी को सफलता दिलाने में नाकाम रहे.

बहरहाल, वर्ष 2017 के विधान सभा चुनाव में भाजपा ने एक बार फिर योगी आदित्यनाथ पर भरोसा जताते हुए उन्हें स्टार प्रचारक बनाया, और पूरे उत्तर प्रदेश में वे प्रचार के लिए घूमे. इस दफा योगी की मेहनत रंग लाई और भाजपा ने रिकॉर्ड सीटों के साथ विधान सभा चुनाव को फतह किया. ऐसा भी नहीं है कि चुनाव में केवल योगी आदित्यनाथ का जादू चला, परन्तु उन्होंने चुनाव में जिस प्रकार से मेहनत की और पूर्वी उत्तर प्रदेश सहित पूरे प्रदेश में भाजपा का परचम लहराया उसमें योगी के योगदान को पार्टी ने भी स्वीकार किया. अंततः भाजपा संसदीय दल ने राज्य के अगले मुख्यमंत्री के लिए योगी आदित्यनाथ को सबसे उपयुक्त मानते हुए उनका चुनाव किया, और वे 19 मार्च को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के पद पर आसीन हुए.

योगी आदित्यनाथ का विवादित जीवन ((Yogi Adityanath controversial statements))

योगी आदित्यनाथ अपने बयानों और क्रियाकलापों को लेकर हमेशा विवादों में रहे. गोरखपुर दंगे के दौरान योगी की भूमिका को लेकर हमेशा उनकी आलोचना होती रही है. इस घटना के बाद योगी को जेल भी जाना पड़ा था. उनपर वर्ष 2008 में आजमगढ़ में जानलेवा हमला भी हुआ था. इस हमले में वह बाल-बाल बच गए थे. इसके अलावा वर्ष 2016 में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे पर, वर्ष 2015 में इखलाक हत्याकांड पर, मुसलमानों की आबादी बढ़ने पर, वर्ष 2014 में लव जिहाद पर और वर्ष 2017 के विधान सभा चुनाव के दौरान पश्चिमी उत्तर प्रदेश के कैराना से हिन्दुओं के पलायन पर, दिया गया उनका बयान विवाद का विषय बनता रहा है.

बहरहाल, भाजपा के पोस्टर बॉय माने जाने वाले योगी आदित्यनाथ भारत के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं. सभी को उम्मीद है कि योगी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के ‘सबका साथ और सबका विकास’ के मूलमंत्र को अपनाते हुए राज्य के विकास में अपना सर्वश्रेष्ठ योगदान देंगे.

 Yogi Adityanath biography in English

Yogi Adityanath age 44 has been named CM of UP. BJP has won a massive 325 seats in Vidhan Sabha Election. His name has come as a surprise since he has a hard core hindutva image. But it seems that BJP has recognized that hindutva is the winning formula.

योगी आदित्यनाथ का जीवन परिचय

Details of Yogi Adityanath

Name Ajay Singh (Mahanth Yogi Adityanath)
Age 44 Years
Designation CM of UP
Website http://www.yogiadityanath.in/
Height Not Known
Caste Rajput
Other Imp Post President Hindu mahasabha

Yogi Adityanath to Become Chief Minister of UP

Power Show in Lucknow

While it has become almost certain the Keshav Prasad Maurya is out of the race, his supporters, as well as the supporters of Yogi Adityanath engaged in a power show in Lucknow. Their demand – their respective leaders should be handed over the responsibility of Chief Minister for the hyped and most-populous state of India – Uttar Pradesh.

About Yogi Adityanath

A child of a Rajput Family, Yogi Adityanath’s actual name was Ajay Singh, who was born in 1972 on June 5. His place of birth was Garhwal’s Panchur in Uttarakhand.

He grabbed his bachelor’s degree from Uttarakhand’s N.H.B. Garhwal University, Srinagar. At the age of 26, he became the member of 12th Lok Sabha, making him the youngest member.

Adityanath became Member of Parliament from Gorakhpur in the following elections:

  • 1998
  • 1999
  • 2004
  • 2009
  • 2014

Yogi Adityanath – RSS Backed?

Starting 2014, it looked like BJP was all about two-man show. It was believed that it was PM Narendra Modi and BJP’s National President, Amit Shah are the two people who always pull all the strings when it comes to decision making.

That’s why, Modi’s pick of Manoj Sinha was considered to be strongest contender for the CM’s post in Uttar Pradesh. Things have changed a lot after that when at 4:16 PM today, RSS or Rashtriya Swayamsevak Sangh – the mother body of BJP came in stated that it wants to have a say in CM selection and after that Amit Shah was briefed about the candidates that RSS thinks should be considered as CM for UP.

Interestingly, after RSS pitched in, Yogi Adityanath came in scene and now stands the strongest contender for the post while Manoj Sinha – Modi’s pick – has taken a bit of a sideline. This gives an impression that RSS is calling its shots and Yogi Adityanath looks like a trump card from the Sangha.

Yogi Steals the Show

Yogi Adityanath has stolen the show. With Yogi topping the trends on microblogging site – Twitter, it was almost evident that Adityanath definitely had the majority support. With several hashtags like #YOGIFORCM, #yogi, #Yogi4CM, it was becoming popular the UP people definitely wanted Adityanath to take control of the UP broken political structure.

Needless to say, right outside the Lok Bhawan, people came up with the slogan – “Desh Mein Modi Ji, Pradesh Mein Yogi Ji”

At 18:06 (that is, 6:06 PM), First Post reported that it has become official that Yogi Adityanath will become the next Chief Minister of Uttar Pradesh. This news comes after Venkaiah Naidu called for an emergency meeting with top candidates for CM post. After the party meet, name of Yogi was officially announced, who will be taking the oath tomorrow (Sunday, 19th March, 2017) and become UP’s new Chief Minister.

Other Articles